Weaning Tips

स्तनपान छुड़वाने के तरीके | Breastfeeding Weaning Tips

एक माँ और बच्चे के बीच सबसे गहरा सम्बंध स्तनपान के दौरान बनता है। जितना ज़रूरी स्तनपान शुरू करना है, उतना ही ज़रूरी है उसे छुड़ाना (Breastfeeding Weaning)। ज़्यादातर डाक्टर्ज़ हर नई माँ को जन्म से लेकर कम से कम 6 महीने तक स्तनपान कराने की सलाह देते है जो की बहुत आवश्यक है और अगर डबल्यू॰एच॰ओ॰ (World Health Organisation) की माने तो हर माँ जब तक चाहे अपने बच्चे को स्तनपान करा सकती है। कई माताएँ अपने बच्चे को ढाई से तीन साल तक भी स्तनपान करती है जिसे विस्तारित स्तनपान भी कहते है।

कितनी ही बार बच्चे धीरे धीरे ख़ुद ही माँ का दूध पीना बंद (Self Weaning) कर देते है क्यूँकि जैसे जैसे वो बड़े होते रहते है वो ठोस आहार लेना शुरू कर देते है जिससे उन्हें माँ का दूध नहीं चाहिए होता। लेकिन फिर भी कई बच्चे ऐसे भी है जो थोड़ी थोड़ी मात्रा में स्तनपान करते रहते है।बच्चे को दूध पिलाने के तरीके तो आप अब तक जान गयी होगी पर आज हम माँ का दूध छुड़वाने के तरीके (How To Wean Off Breastfeeding) जानेगे |

किसी वजह से अगर आप स्तनपान छुड़ाना (Breastfeeding Weaning) चाह रही है तो आपको कुछ जरुरी बातें ध्यान में रखनी चाहिए |

 स्तनपान छुड़वाने के तरीके (Breastfeeding Weaning Tips)

  • जल्दबाज़ी ना करे (Gradual Weaning)
  • ठोस आहार (Baby Weaning Food)
  • विभिन्न तरीक़े के आहार
  • स्तनपान का समय (Breastfeeding Schedule)
  • भावनात्मक स्तनपान
  • सही पोषण
ये भी पढ़े:  गर्भावस्था के पहले महीने के दौरान कोन सी सावधानिया बरते ?
Weaning Tips
Weaning Tips

जल्दबाज़ी ना करे (Gradual Weaning)

स्तनपान आपके और आपके बच्चे के लिए एक बहुत ही सुंदर अनुभव है और इस अनुभव को जल्दबाज़ी करके ख़राब ना करे। आपको इसके लिए धैर्य रखना बहुत ज़रूरी है। अगर आप एक ही बार में स्तनपान छुड़ाना (Breastfeeding Weaning) चाहेंगी तो यह आपके बच्चे और आपके लिए भी बहुत कठिन होगा इसीलिए धीरे धीरे बिना किसी ज़बरदस्ती के स्तनपान छुड़ाए।

ठोस आहार (Baby Weaning Food)

जैसा कि हमने पहले भी ज़िक्र किया कि धीरे धीरे जब बच्चे बड़े होने लगते है उन्हें सिर्फ़ माँ का दूध ही नहीं बल्कि ठोस आहार भी चाहिए।  स्तनपान करने के थोड़ी देर बाद आप उसे ठोस आहार भी खिलाए।अपने बच्चे की उम्र के हिसाब से आप उसे खाना खिला सकती है। ठोस आहार खाने से बच्चे का पेट भरा रहेगा और वो स्तनपान की माँग ज़्यादा नहीं करेगा।

विभिन्न तरीक़े के आहार

जब आपका बच्चा ठोस आहार ठीक से खाने लगे तो धीरे धीरे उसे विभिन्न तरीक़े की चीज़ें खिलाना शुरू करे। जैसे की अगर आप फलों में सिर्फ़ केला या सेब ही खिलाती थी तो अब आप कोई नया फल भी शामिल कर सकती है।उसी प्रकार उसके खाने में कोई नई सब्ज़ी या दल शामिल करे।अपने बच्चे को नए नए स्वाद से अभय कराना उसकी दिलचस्पी ठोस आहार में बढ़ाएगा और वो स्तनपान कम (Self Weaning) करेगा।

ध्यान रहे अगर आपके बच्चे ने अभी भी ठोस आहार लेना शुरू किया है तो इतनी जल्दी कोई नई चीज़ अपने बच्चे को ना खिलाए क्यूँकि इतनी जल्दी वो अलग अलग प्रकार की चीज़ पचा नहीं पाएगा।

ये भी पढ़े:  गर्भावस्था के टिप्स | Tips For Healthy Pregnancy

स्तनपान का समय (Breastfeeding Schedule)

हर बच्चे का अपना अपना समय होता है स्तनपान का। कुछ बच्चे थोड़ा खेलने के बाद माँगते है कुछ सोने से पहले, एक माँ ठीक से पहचान सकती है की कब बच्चा दूध की माँग करेगा। कोशिश करे जब आपको लगे की कुछ देर में आपका बच्चा स्तनपान की माँग करने लगेगा तो उससे पहले ही आप उसे खेल खेल में कुछ ठोस आहार खिला दे। इससे बच्चे का पेट भरेगा और उसका ध्यान भी खाने पर रहेगा। Breastfeeding Wean करनें का यह तरीका आसान और सुरक्षित हैं |

भावनात्मक स्तनपान

यदि आपका बच्चा दो साल से बड़ा है और अभी भी स्तनपान कर रहा है तो एक दम से उसकी इच्छा पूरी करने की बजाए, उसका ध्यान कही और बटाने की कोशिश करे। इस उम्र में बच्चे पेट भरने की बजाय भावनात्मक सहारे के लिए स्तनपान करते है। इसीलिए कोशिश करे की अपने बच्चे को खेल और बाक़ी चीज़ों में व्यस्त रखे।

सही पोषण

स्तनपान छुड़ाते (Breastfeeding Wean) समय इस बात का गम्भीरता से ध्यान रखना चाहिए कि आपके बच्चे को पूरा पोषण मिल रहा है या नहीं। स्तनपान से बच्चे को पोषण मिलता है तो जब आप स्तनपान छुड़ाने लगे तो अपने बच्चे के पोषण का ख़याल रखे। जब बच्चे को माँ के दूध जैसा पोषण ठोस आहार से मिलेगा तो वह ख़ुद ही स्तनपान की माँग (Self Weaning) नहीं करेगा।

क़ुदरत का करिश्मा ही है, कैसे औरत इतने महीनो तक अपने बच्चे को गर्भ में रखती है और माँ के ज़रिए उसे पूरा पोषण मिलता है। उसी तरह बच्चे के जन्म के बाद जब माँ बच्चे को स्तनपान कराती है तब भी माँ के ही ज़रिए बच्चे को पूरा पोषण मिलता है। इसीलिए इस अनुभव को जितना हो सके उतना जिए। हर बच्चा धीरे धीरे स्तनपान लेना बंद करता हैं, कोई जल्दी तो कोई देर से लेकिन आपको धैर्य से काम लेना होगा।

ये भी पढ़े:  जानिए प्रेगनेंसी में संगीत सुनने के फायदे

Leave a Comment