pregnancy-photo

क्या है बच्चा होने का सही तरीका?

माँ बनना हर महिला के जीवन का एक सुनहरा अध्याय होता हूं। माँ बनने की खुशी शब्दो मे ज़ाहिर नही की जा सकती, लेकिन हर कोई इतना सौभाग्य शाली नही होता। कई बार विवाह के कई वर्षों बाद भी स्त्री मातृत्व सुख से वंचित रहती है। आज आपको बताते है बच्चा होने के कुछ ऐसे तरीके जिनके बारे में शायद आप जानती भी हो, पर कभी करने की कोशिश नही की होगी। इन तरीकों को फॉलो करिये आपको माँ बनने का सुख जरूर प्राप्त होगा।

1-सही समय पर करें सेक्स

गर्भधारण का सबसे सही समय ओवुलेशन पीरियड होता है। इसके लिए पीरियड के सातवें दिन से लेकर 20वे दिन तक सम्भोग का सही समय होता है। इस समय पर गर्भधारण की संभावना सबसे अधिक होती है।

2-स्ट्रैस से रखे दूरी

जी, हाँ स्ट्रैस यानी तनाव आपके माँ बनने में बहुत बड़ी अड़चन हो सकता है। दरअसल स्ट्रैस आपके हॉर्मोन सिस्टम को खराब कर थाइरोइड और पी. सी. ओ. डी. जैसी बीमारी देता है। ये बीमारी माँ बनना लगभग नामुमकिन कर देती है। तनाव को कोसो दूर रखें, मेडिटेशन करे,म्यूजिक सुने, नेगेटिव लोगो को इग्नोर करें। खुश रहे ,सुबह सुबह नंगे पैर हरी घास पर चले।

3-नशे से दूर रहे

नशा वैसे भी सब प्रकार से हानिकारक ही है। लेकिन यदि आप माँ बनने की चाहत रखती है तो इससे कोसो दूरी बना ले। केवल स्त्री नही पुरूष भी पिता बनना चाहता है तो नशा बिल्कुल छोड़ दे क्योंकि ये प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालता है।

ये भी पढ़े:  क्या घरेलु नुस्को से गिराया जा सकता है गर्भपात

4-वजन कम रखे

माँ बनने के लिए संतुलित वजन रहना बहुत ज्यादा जरूरी है। क्योंकि अप्रत्यक्ष रूप से बढ़ता वजन प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालता है। इससे अनियमित माहवारी के अलावा दिल की बीमारी के भी चांसेस होते है।

5-शरीर के तापमान पर नजर रखे

ऐसा माना जाता है कि ओवुलेशन के टाइम पर भी एक खास पीरियड होता है जिसमे प्रेग्नेंसी के चान्सेस ज्यादा होते हैं। इसके लिए महिला रोज अपना टेम्परेचर नापती है और उसी के आधार पर सेक्स का निर्णय लिया जाता है। हाई ओवुलेशन पीरियड में बॉडी टेम्परेचर आधा से एक डिग्री बढ़ जाता है।

6-डॉक्टर से सलाह करें

जब भी माँ बनने की प्लानिंग करें, सबसे पहले डॉक्टर से मिले, डॉक्टर आपकी शारीरिक स्थिति की सम्पूर्ण जाँच कर आपको सही गाइडेन्स देगा। इस प्रकार किसी भी समस्या या बीमारी के समाधान के बाद ही आगे बेबी प्लान करने का निर्णय ले सकेंगे।

7-हैल्थी लाइफ स्टाइल अपनाए

आप सोचेंगे कि लाइफ स्टाइल कैसे बच्चा होने का तरीका बन सकता है। तो आपकी जानकारी के लिए बता दे एक हैल्थी लाइफ स्टाइल आपकी कई बीमारियों और कमियों को बिना दवाइयों के ठीक कर सकती है। इसके लिए खूब पानी पीएं, नेचुरल चीज़े अपनाए, योग या व्यायाम करें। इससे केवल हार्मोनल दिक्कते ही दूर नही होंगी बल्कि मानसिक शक्ति भी बढ़ेगी।

8-अच्छा खान पान अपनाए

दिन में अंगूर और केले(एक कप पिसे केले 225 gm)में का सेवन करे,संतरे का जूस पिए। साबुत अनाज जैसे दलिया और ओट्स का सेवन करे। अंडा अंकुरित अनाज खाए। अजमोद,शतावरी,बीन्स और फलियों में काले सेम,राजमा,किडनी बीन्स। फूल गोभी,स्ट्रॉबेरी,नट्स भी फोलिक एसिड युक्त होते है। सोया उत्पाद,चुकंदर। कुछ मछलियों जैसे मेकरल और सालमन में भी फोलिक एसिड पाया जाता है। सोयाबीन के एक कप में 185-256gm फोलिक एसिड पाया जाता है।सोयाबीन का सेवन शरीर मे खराब कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करता है। अलग अलग तरीके के बीज भी फोलिक एसिड के अच्छे स्त्रोत है। जैसे एक कप सनफ्लॉवर सीड में 46gm,एक कप फ्लैक्स सीड में 168gm फोलिक एसिड होता है। मसूर की दाल। गैस ,अपच से बचने के लिए भारी और तला हुआ कम से कम खाए। जंक फूड, कैफीन,एल्कोहल, छोड़ दे। जरूरत से ज्यादा मीठा भी आपको नुकसान करेगा। विटामिन्स और मिनरल्स का सेवन अच्छे से करना चाहिए। डेयरी प्रोडक्ट के साथ साथ रेड मीट,हरी सब्जियां खाए। कैल्शियम ,प्रोटीन,आयरन ले। हैल्थी खाने से हार्मोनल बदलाव से होने वाली समस्याए भी दूर होती है। जिंक का सेवन बढ़ा दे, कम से कम 15 मिलीग्राम रोज ले, साबुत अनाज, सूखे मेवे जिंक के अच्छे स्त्रोत है। दूध,दही,पनीर,साबुत अनाज ,दाल,हरी। सुबह निम्बू पानी या नारियल पानी पिए,ब्रोकली,भिंडी,दाल,पालक,एवाकाडो खाए। मछली,सोयापनीर,माँस ,अंडा,मीट ,चिकेन,बीन्स,टोफू खाए। अधपका माँस, कच्चा अंडा,पपीता,सी फूड,कुकीज,केक,डोनट्स,जैतून,कनोला,मक्का का तेल,नट,बीज का सेवन ना करे।

ये भी पढ़े:  पिल्स लेने के दौरान कैसे करे मैनेज वेट और डाइट

9-सेक्स कब, कितना और कैसे करे

गर्भधारण के लिए सुबह के समय संभोग करना सबसे उचित होता है। साथ ही मन मे किसी प्रकार का तनाव ना हों, मिशनरी पोजीशन अपनाए, ओवुलेशन के सारे दिनों में सम्भोग करे। चिकनाई अर्थात किसी तरह के लुब्रिकेंट का इस्तेमाल ना करें। सेक्स के बाद स्त्री एकदम से उठे ना बल्कि पीठ के बल लेटी रहे, योनि को साफ ना करे।

10-व्यायाम व नींद

जरूरत से व्यायाम ना करे, भरपूर नींद ले, रात के समय चाय कॉफी का सेवन ना करे।

11-सही उम्र में निर्णय ले

आप माँ बनना चाहती है तो इसका निर्णय लेने में देर ना करे। ज्यादा उम्र मे माँ बनना मुश्किल ही नही होता बल्कि कई कॉम्प्लिकेशन को जन्म देता है।

12-पुरुष भी रखे ध्यान

धूम्रपान व शराब का सेवन ना करे, टाइट अंडरवेयर ना पहने, बहुत ज्यादा कसरत ना करे, सेक्स पावर बढ़ाने वाली चीज़ों का सेवन ज्यादा ना करे।

बच्चे होने के तरीके के घरेलू उपाय

  1. करीब 2 मुट्ठी साबुत गेहूं ले, उन्हें रात भर भिगो कर रख दे। सुबह पानी छान कर अलग कर ले, और एक सूती कपड़े में बांध लें। जब गेहूं अंकुरित हो जाए उसमे किशमिश मिलाकर रोज़ सुबह खाली पेट खाए। इसके अलावा कुछ ना मिलाए।
  2. पीली सरसों को बारीक पीस ले, अब रोज एक चम्मच पानी के साथ, पीरियड शुरू होने के चौथे दिन से लगातार एक महीने तक ले। एक भी दिन मिस ना करे, किसी भी समय ले सकते है लेकिन जिस समय पर पहले दिन ले, रोज़ वही समय पर लेना है।
  3. 10 ग्राम शिवलिंगी के बीज, 10 ग्राम नागोरी 10ग्रामअसगंध, 10ग्राम नागकेसर, 10ग्राममुलेठी, 10ग्रामकमल केसर, 10ग्रामवंशलोचन ले 100ग्राम मिश्री ले, सबको बहुत बारीक पीस ले। जिस दिन माहवारी खत्म हो उसी दिन से 6 ग्राम रोज दिन में तीन बार गाय के दूध के साथ खाए। इसका सेवन बारहवीं रात्रि तक करे।
ये भी पढ़े:  घर पर कैसे पता करें कि आप गर्भवती हैं?
Previous Post
प्रेगनेंसी के तरीके
गर्भावस्था

क्या है वीर्य रोकने के उपाय?

Next Post
288d87
गर्भावस्था

कैसे करे प्रेगनेंसी में सेक्स?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *