गर्भावस्था में कब्ज की समस्या

गर्भावस्था में कब्ज के लिए घरेलु उपचार- Pregnancy me kabj ke upay in hindi

kabj ke upay in hindi

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई मानसिक व शारीरिक समस्याओं से गुजरना पड़ता है। इन शारीरिक समस्याओ में से एक बहुत ही आम समस्या है कब्ज ।गर्भावस्था के दौरान कब्ज की समस्या शरीर में हार्मोन्स के बदलाव की वजह से होती है। हम इस लेख में हम बात करेंगे यदि आप को कब्ज हो गयी है तो निचे लिखी चीजे खाये ये आपको समस्या से निजात दिलाएंगी।




गर्भावस्था में  पेट साफ़ करने के घरेलु उपचार

  • पानी
  • नींबू
  • कीवी
  • तरबूज
  • दही
  • दलहन या दाल
  • गुलकंद
  • खट्टे फल
  • पालक और अन्य साग

Pregnancy me kabj ke upay in hindi

पानी

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को बार बार पेशाब जाना पड़ता है जिस वजह से कई महिलाए पानी पीना ही कम कर देती है जो की ठीक नहीं है। शरीर में पानी की कमी कब्ज जैसी समस्या पैदा कर सकती है। प्रेगनेंसी में कब्ज से छुटकारा पाने का पहला मन्त्र है खूब पानी पिए।



नींबू

गर्भावस्था में कब्ज की समस्या होने पर नींबू ले। नींबू विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से रिच है जो की कब्ज के इलाज में रामबाण है। रोजाना सुबह गुनगुने पानी में एक नींबू का रस और शहद मिलाकर पीने से भी कब्ज में लाभ होता है।

ये भी पढ़े:  गर्भावस्था में सेक्स करने के टिप्स और फायदे




कीवी

कीवी में काफी मात्रा में फाइबर और पानी होता है फाइबर और पानी दोनों ही कब्ज की समस्या को दूर करते है।



तरबूज

तरबूज में भी काफी मात्रा में पानी होता है। तरबूज शरीर में पानी की कमी को पूरा कर कब्ज से छुटकारा दिलाता है।

How to remove constipation in hindi

दही

दही में प्रोबायोटिक यानि की अच्छा बैक्टीरिया होता है। ये बैक्टीरिया शरीर की पाचन शक्ति को बढ़ता है और कब्ज की समस्या से निजात करता है। गर्भावस्था में दही को अपने दैनिक आहार में जरूर शामिल करे।

गुलकंद

गर्भावस्था के दौरान गुलकंद का सेवन करके भी गर्भावस्था में कब्ज की समस्या से बचा जा सकता है प्रेगनेंसी में घर पर बने गुलकंद का उपयोग करे गुलाब की पत्तियों में काफी मात्रा में मेटाबोलिज़्म होता है जो की भोजन पचाने में मदत करता है।

खट्टे फल

खट्टे फलो में अच्छी मात्रा में फाइबर होता है। संतरे और अंगूर जैसे खट्टे फलो में फाइबर काफी होता हैं जो की कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

पालक और अन्य साग

प्रेगनेंसी में कब्ज से बचने के लिए पालक, ब्रोकोली और अन्य साग खूब खाये पालक और हरी पत्तेदार सब्जियों में काफी मात्रा में फाइबर, फोलेट और विटामिन के होता है।

दलहन या दाल

दालों में काफी मात्रा में फाइबर होता है, फाइबर शरीर की पाचन शक्ति को बेहतर करता है और पाचन ठीक होने पर कब्ज की समस्या भी दूर हो जाती है। अधिकांश दालों में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है जैसे की बीन्स, दाल, छोले, और मटर।




ये भी पढ़े:  गर्भावस्था में योनी से ब्लीडिंग होने के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

इतना ही नहीं दालों में विटामिन बी 6, पोटेशियम, जस्ता और फोलेट भी काफी मात्रा में होता हैं। ये सभी पोषक तत्व भी कब्ज कम करने में मददगार हैं।

Previous Post
गर्भावस्था में कब्ज
गर्भावस्था

प्रेगनेंसी में कब्ज से कैसे करे बचाव – Pregnancy me kabj ke upay in hindi

Next Post
healthy eating habits
बच्चा भोजन और आहार

बच्चों की खाने की हेल्दी हैबिट्स कैसे बनाये

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *