गर्भावस्था में व्यायाम

गर्भावस्था में कब्ज को दूर करने के व्यायाम – Pregnancy me kabj ke upay in hindi

pregnancy me kabj ke upay in hindi

गर्भावस्था में कब्ज होना सामान्य है। लगभग हर चौथी महिला को गर्भावस्था में कब्ज होता है। अनियमित मल त्याग, पेटदर्द और कठोर मल कब्ज के संकेत हैं।



गर्भावस्था में व्यायाम का महत्व

‌गर्भावस्था में कब्ज के लक्षण, कारण और उपाय से आप परिचित हुए। जिस प्रकार आहार में परिवर्तन के साथ कब्ज को रोका जा सकता है, इसी प्रकार से व्यायाम कब्ज दूर करने में मदद कर सकता है। गर्भावस्था में शरीर की गतिविधियां कम हो जाती है, जो आपने महसूस किया होगा। कुछ विशेष मामलों के अलावा अगर आप गर्भावस्था में नियमित रूप से व्यायाम नहीं कर रही हैं तो आपके शरीर के सिस्टम सुस्त हो जाएंगे। पाचन तंत्र उनमें से एक है। जिसके कारण आपको गर्भावस्था में कब्ज की परेशानी हो सकती है।

गर्भावस्था में कब्ज का रामबाण इलाज

गर्भावस्था में कब्ज दूर करने के लिए व्यायाम जानने से पूर्व गर्भावस्था में व्यायाम के सामान्य नियमों को समझना आवश्यक है। गर्भावस्था में कोई भी व्यायाम शुरू करने से पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। कौन सा व्यायाम करना चाहिए और कौन सा नहीं, व्यायाम किस सीमा तक किया जाना चाहिए, यह जानना आवश्यक है। आपको सवाल हो तो विशेषज्ञ या चिकित्सक को पूछने मे संकोच नहीं करना चाहिए।

ये भी पढ़े:  कैसे ठीक करे गर्भावस्था में सर दर्द की समस्या



निम्नलिखित स्थितियों में गर्भवती महिलाएं व्यायाम नहीं कर सकती हैं।

  • अपरिपक्व प्रसव (preterm labour) का इतिहास या लक्षण होना।
  • गर्भपात का इतिहास या लक्षण होना।
  • कई गर्भावस्था (एकाधिक)
  • वर्तमान गर्भावस्था में प्लेसेंटल समस्या (for example placenta previa)
  • हृदय की समस्याएं
  • फेफड़ों की समस्या
  • उच्च रक्त चाप
  • अधिक वजन

गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करते समय कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए

  • किसी भी प्रकार के व्यायाम करते समय गिरने से बचें
  • गर्भावस्था में शरीर का लचीलापन बढ़ता है। जिसका कारण हार्मोन रीलेकसीन है। इसीलिए कृपया अपने शरीर को ओवरस्ट्रेच करने से बचें।
  • व्यायाम सभी के लिए सुरक्षित हैं और इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं हैं। फिर भी अगर आपको निम्न में से कोई भी चीज़ महसूस होती है, तुरंत व्यायाम करना बंद कर दें।
      • सिर चकराना
      • बेहोशी
      • सिरदर्द
      • साँसों की कमी
      • गर्भाशय के संकुचन
      • योनि से खून बहना या तरल पदार्थ का रिसना
      • घडकने बढना

‌निम्नलिखित व्यायाम गर्भावस्था में कब्ज में मददगार हो सकते हैं।




‌‌




एरोबिक व्यायाम

गर्भावस्था में कब्ज
गर्भावस्था में कब्ज

एक सप्ताह में 3-5 दिन, 20 से 30 मिनट तक पैदल चलना, तैरना या स्टील की साइकिल चलाना गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा है। एरोबिक व्यायाम से शरीर में हृदय गति और रक्त संचार बढ़ता है। जो पाचन तंत्र की मांसपेशियों को उत्तेजित करता है। इस प्रकार पाचन तंत्र में भोजन की आगे बढ़ने की गति बढ़ जाती है। यह कब्ज से बचाता है।

ये भी पढ़े:  गर्भावस्था में सेक्स करने के टिप्स और फायदे

योगासन

गर्भावस्था में कब्ज
गर्भावस्था में कब्ज

गर्भावस्था में माँ और बढ़ते भ्रूण के लिए योग सुरक्षित एवं फायदेमंद है। अगर आप की गर्भावस्था हाई रिस्क नहीं है और कोई चिंता नहीं है तो आप योग कर सकते हैं। निम्नलिखित योगासन गर्भावस्था में होने वाले कब्जे से राहत दिलाते हैं।

वीरासन (वज्रासन)

गर्भावस्था में कब्ज
गर्भावस्था में कब्ज

यह आसन भोजन करने के बाद किया जाता है। जो पाचन तंत्र में रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है। जो पाचन को आसान बनाता है। जिससे गर्भावस्था में कब्ज नहीं होता है।

विधि : पैर आगे ले कर जमीन पर बैठे। एक पैर घुटने से मोड़कर कमर के नीचे रखें। कमर को उल्टी तरफ झुकाए। इस प्रकार दूसरे पैर को घुटने से मोड़कर कमर के नीचे रखे। इस अवस्था में 8 सेकंड रहे।

परिघासन

गर्भावस्था में कब्ज

यह आसन भोजन के कुछ धंटे बाद करें। परिघासन की विशेष अवस्था से पेट में जगह बनती है। पाचन में आसानी होती है और कब्ज दूर होती है।




विघी: धुटनो के बल जमीन पर बैठे। एक पैर बहार निकालें। हाथ से टखने को पकड़ें। अपने विपरीत हाथ को ऊपर फैलाए रखें। इस अवस्था में 8 सेकंड रहे। इस प्रकार दोनों तरफ करें।

‌इन व्यायाम के अलावा आप गर्भावस्था में कब्ज को दूर करने के लिए विशेषज्ञों के मार्गदर्शन और देखरेख में रिफ्लेक्सोलॉजी, पाइलेट्स और एक्यूप्रेशर भी आजमा सकती हैं।

Previous Post
pregnancy week by week in hindi
गर्भावस्था

कैसे होता है गर्भ में बच्चे का विकास ?

Next Post
toys for kids
बच्चा

1 साल के बच्चे के 10 सबसे अच्छे खिलोने (लड़के के लिए)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *