गर्भ ठहरने के लक्षण

प्रेग्नेंट है या नहीं जानिए इन गर्भ ठहरने के लक्षण से

गर्भवती होना किसी भी स्त्री के लिए बहुत ही सौभाग्य की बात है। हर स्त्री चाहती है की माँ बन ने के सुख से वो कभी वांछित ना रहे। जब आप गर्भ धारण कर रही होती है तब शायद आपको आपके अंदर हो रहे बदलाव का पता ना चले लेकिन अगर आप इन कुछ बातों का ध्यान रखे तो आप पहचान सकती है की हो सकता है यह गर्भ धारण के ही लक्षण (Pregnancy ke lakshan) हो। तो अगर आप भी माँ बन ने की इच्छा रख रही है तो ध्यान रखिए नीचे दिए कुछ लक्षणों का(Pregnancy ke lakshan)।

  • जीं मचलना
  • थकान
  • स्तनों में सूजन
  • हल्का रक्तस्राव
  • खाने में बदलाव
  • पेट में मरोड़
गर्भ ठहरने के लक्षण
गर्भ ठहरने के लक्षण

जीं मचलना (Morning Sickness In Pregnancy)

आपके पिरीयड्ज़ यानी मासिक धर्म का ना आना एक बहुत बड़ा कारण हो सकता है जिसका आप ध्यान रखे लेकिन इससे आप पक्का नहीं कह सकती खुली और भी कारण हो सकते है जिससे आपके पिरीयड्ज़ देर से आते है जैसे की थोयरोईड या स्ट्रेस। लेकिन अगर मासिक धर्म ना होने के बाद आपका जी भी मचलता है, खाकर सुबह जब आप उठती है तो आप ज़रूर अंदाज़ा लगा सकती है की आपने गर्भ धारण कर लिया है।

थकान

गर्भ धारण करने के बाद आपका शरीर आगे आने वाले बदलाव के लिए तैयार होना शुरू हो जाता है और इसी कारण से आपको जल्दी थकान महसूस होने लगती है। आपके अंदर बड़ रहे प्रोजेस्टरोन नामक हार्मोन की वजह से आप जल्दी थकना शुरू हो जाएँगी।

ये भी पढ़े:  प्रेगनेंसी में खुजली की परेशानी, उसके उपाय और घरेलु उपचार | Khujli During Pregnancy

स्तनों में सूजन (Sore Breasts In Pregnancy)

Sore Breasts In Pregnancy
Sore Breasts In Pregnancy

गर्भ धारण करने के कुछ ही समय में आपको अपने स्तनों पर सूजन सी महसूस होगी। अपने स्तनों की त्वचा संवेदनशील हो जाएगी, यह एक बहुत बड़ा लक्षण है की आपने गर्भ धारण कर लिया है।

हल्का रक्तस्राव (Brown Discharge And Cramps During Pregnancy)

जब आप गर्भ धारण करती है तो हल्का रक्तस्राव हो सकता है, काफ़ी महिलायें इसे पिरीयड्ज़ के आने का संकेत भी समझ लेती है लेकिन इसे इम्प्लैंटेशन ब्लीडिंग कहा जाता है। गर्भ धारण करने के क़रीब छह या सात दिन बाद ऐसा होता है। यह रक्तस्राव काफ़ी हल्का होता है और रक्त का रंग भी गुलाबी या हल्का भूरा होता है।

खाने में बदलाव

गर्भ धारण करने के बाद आपके शरीर में काफ़ी बदलाव होते है। ओजेस्ट्रोने नामक हार्मोन में बदलाव की वजह से आपके संवेदक अँगो में काफ़ी सक्रियता हो सकती है जिसकी वजह से आपको अचानक ही कुछ ऐसा खाने का मन करेगा जो शायद आपके पहले अच्छा नहीं लगता था, या कुछ अलग खाने की इच्छा होगी। तो आपको समझ जाना चाहिए की यह गर्भ धारण करने के लक्षण है।

पेट में मरोड़

पिरीयड्ज़ से पहले हमारे पेट में मरोड़ पड़ना शुरू हो जाते है और हमें पता चल जाता है की मासिक धर्म शुरू होने को है। लेकिन गर्भ धारण करने के कुछ समय बाद हमें पेट में मरोड़ महसूस होंगे और इसकी वजह से महिलायें दुविधा में पड़ जाती है और सोचती है की यह पिरीयड्ज़ की वजह से है। जब भ्रूण आपके गर्भाशय से जुड़ता है तो ऐसे मरोड़ महसूस होते है।

ये भी पढ़े:  गर्भावस्था में क्या खाएं क्या नहीं - Pregnancy Diet Chart - Pregnant Women diet

जब भी आप माँ बन ने की इच्छा रखे तो इन लक्षणों को हमेशा ध्यान में रखे। कुछ लक्षण पिरीयड्ज़ के लक्षणों जैसे ही है लेकिन अगर आप थोड़ा और ध्यान देंगी तो आपको पता चल जाएगा की आपने गर्भ धारण किया है या नहीं। आप घर में प्रेग्नन्सी टेस्ट भी ले सकती है जिससे आपको और आसानी होगी।

ये भी पढ़े

1 Shares

Leave a comment