happy pregnancy tips

ऐसा क्या करे की हो जाए जल्दी से प्रेग्नेंट

 प्रेग्नेंट होने के लिए क्या करें

जब शादी के कई साल बाद बहुत कोशिश के बाद भी बच्चे का सुख ना मिल पाए तो दुखी होना लाजमी है। जो भी, जहाँ भी आपको प्रेग्नेंट होने के उपाय बताता है आप उसे फॉलो करते हो। कई बार रिजल्ट पॉजिटिव आता है कभी नही, ऐसे में निराश ना हो। इस आर्टिकल में आपको बतायेंगे की आप किन बातों पर ध्यान दे, प्रेग्नेंट होने के लिए क्या करें?

सुधारे अपना लाइफ स्टाइल

आप रात को लेट सोते है, नींद आने तक या तो टी वी देखते है या मोबाइल, दिन भर ऊंट पटांग खाते है जैसे चिप्स, कोल्ड्रिंक, फ़ास्ट फूड, ना योगा, ना एक्सरसाइज, कभी पूरे दिन खाना कभी पूरे दिन भूखे रहना। आप नही जानते ये छोटी छोटी आदतें आपकी प्रजनन क्षमता पर कितना बुरा असर डालती है। बच्चे के लिए सबसे पहले इन आदतों पर अंकुश लगाए।
शराब, सिगरेट, कैफीन का सेवन बन्द कर दे और यदि बन्द नही कर सकते तो कम से कम कर दे।

सेक्स ही नही प्यार भी करें

आपको शायद सुनने में अजीब लगे पर यही सच है आप जब तक बच्चा चाहिए ये सोच कर अर्थात दिमाग पर प्रेशर लेकर सेक्स करेंगे तब तक कोई फायदा नही। प्यार करिए, एक दूसरे को महसूस करें, एक दूसरे में डूबकर चरम सुख को प्राप्त करें
ऐसा करने पर सन्तान सुख जरूर मिलेगा।

ये भी पढ़े:  बांझपन के कारण, लक्षण, बांझपन उपचार और इलाज

सेक्स का सही तरीका अपनाए

  • ओवुलेशन पीरियड अर्थात माहवारी से 2 सप्ताह पहले से भरपूर सेक्स करें।
  • सेक्स के तुरंत बाद महिला उठ कर यूरिन पास ना करे ना ही योनि को साफ करें
  • सेक्स की नॉर्मल पोजीशन अपनाये अर्थात पुरुष ऊपर रहे स्त्री नही।
  • सेक्स के दौरान कोशिश करे कि कोई लुब्रिकेंट इस्तेमाल ना करें इसके स्थान पर भरपूर फॉरप्ले करे जिससे योनि स्वतः ही गीली हो जाए।

डॉक्टर की सलाह ले

यदि सब कोशिश के बाद भी आपको माता पिता बनने का सुख प्राप्त नही हो रहा हो तो डॉक्टर से मिलकर पति पत्नी अपनी सम्पूर्ण जाँच कराए। कई बार बच्चा ना होने के कुछ मेडिकल कारण होते है जैसे

  • एंडोमेट्रिओसिस
  • ओवुलेशन सम्बन्धी दिक्कते
  • फेलोपियन ट्यूब में समस्या का होना
  • अंडे से जुड़ी समस्या
  • हॉर्मोन जैसे प्रोजेस्ट्रोन की कमी
  • सर्विक्स इन्फेक्शन
  • पुरुष में शुक्राणुओं की कम मात्रा, खराब क्वालिटी, कमजोर होना
  • पुरुषो में कोई भी जन्मजात दोष होना, वीर्य नलिका का बन्द होना

इनका सही से इलाज करवाने पर आप प्रेग्नेंट जरूर होंगी।

वजन और तनाव दोनो को कम करें

यदि आपका वजन ज्यादा है तो हॉर्मोन असंतुलन का कारण हो सकता है। यही असंतुलन थाइरोइड और पी सी ओ डी जैसी बीमारियों का कारण बन प्रेग्नेंट होना मुश्किल कर देता है। इसी प्रकार तनाव भी पिट्यूटरी ग्लैंड पर असर डालकर प्रेग्नेंसी में बाधक बनता है। ये दोनों चीज़े आपस मे इंटर कनेक्टेड है, तनाव से कई बार मोटापा भी बढ़ जाता है और मोटापा बढ़ने से भी तनाव हो जाता है।

इसके अलावा अन्य कारण है कसे हुए अंतःवस्त्र पहनना, प्रदूषण या प्रदूषक पदार्थो जैसे प्लास्टिक, कॉस्मेटिक का इस्तेमाल, अनहैल्थी भोजन, बहुत ज्यादा रेडिएशन वाली चीज़ों का इस्तेमाल जैसे फोन या वाई फाई इनका उपाय यही है कि जीवन शैली सुधारे जिससे जल्द से जल्द आप सन्तान सुख पा सके।

ये भी पढ़े:  प्रेगनेंसी में खुजली की परेशानी, उसके उपाय और घरेलु उपचार | Khujli During Pregnancy

.

2 Shares

Leave a comment