gharelu nuskhe for abortion in hindi

1 से 3 महीने का गर्भ गिराने के घरेलु उपाय : सबसे सुरक्षित तरीके

Abortion tips in hindi

क्या आप गर्भवती हैं? क्या अनचाहे गर्भ से आपको चिंता हो रही है? गर्भावस्था केवल तभी रोमांचक होती है जब वो अपेक्षित हो। कई बार अकस्मात गर्भधारण भी हो जाता है। जहां कपल किसी भी कारण से अनियोजित गर्भावस्था नहीं चाहते हैं। ऐसे किस्से में कपल गर्भपात करने का फैसला करता है। इस लेख में हम घरेलू उपचार और प्राकृतिक गर्भपात के तरीकों के बारे में जानेंगे। हालांकि, गर्भपात के दौरान माँ के स्वास्थ्य को खतरा रहता है। यहाँ बताए गए उपाय घर पर आसान गर्भपात के लिए है।

Abortion ke gharelu nuskhe in hindi

घर पर प्राकृतिक गर्भपात के लिए कौन सी सावधानियां बरतें

कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के इलाज के लिए घरेलू उपचार सरल है। फिर भी गर्भपात के लिए वे सही समाधान नहीं हैं। ये कई सदियों से दुनिया भर में कई महिलाओं द्वारा आज़माया और परखा गया है। हालांकि, गर्भ गिराने के घरेलू नुस्खे के साथ गर्भपात हमेशा 100% सुरक्षित नहीं है। आपको कुछ सावधानियां रखनी पड़ेगी।
इन घरेलू गर्भपात करने के तरीके को आजमाने से पहले आप अपने निर्णय के बारे में सुनिश्चित हो जाए। घरेलू नुस्खों का असर उलटा नहीं कर सकते।

ये भी पढ़े:  गर्भावस्था में क्या खाएं क्या नहीं - Pregnancy Diet Chart - Pregnant Women diet

अगर आपने गर्भावस्था के दस वीक पार कर लिए हैं तो इन घरेलू उपचारों का उपयोग न करें। बच्चा गिराने के तरीके के उचित ज्ञान की कमी से परेशानी हो सकती हैं। घर पर उन्हें आजमाने से पहले विशेषज्ञ की सलाह लेना बेहतर है। घरेलू नुस्खों का उपयोग करते समय यदि आप किसी असुविधा का अनुभव करते हैं, तो बेहतर है कि डॉक्टर की सलाह लें।  यदि गर्भपात के घरेलू टिप्स असफल होते हैं, तो जल्द से जल्द डॉक्टर को कंसल्ट करे।

Garbhpat ke gharelu tarike

चेतावनी

इस लेख में अबॉर्शन के लिए घरेलू नुस्खों का उल्लेख किया गया है। जिसका सावधानी के साथ प्रयोग किया जाना चाहिए। कॉम्प्लिकेशन से बचने के लिए गर्भपात के किसी भी तरीके को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श करने की सलाह दी जाती है।






गर्भपात के घरेलू नुस्खे

garbhpat ke gharelu upay

अजवाइन से गर्भपात

अजवाइन से प्रेग्नेंसी ख़तम करने का तरीका बहुत कारगार होता है| शुरुआती तौर पर गर्भवती महिला हररोज गरम पानी में अजवाइन के साथ काला नमक और जीरा मिला के छानकर पी सकती है। इससे अनचाही प्रेग्नेंसी ख़तम होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं| प्रेग्नेंसी में अजवाइन का यही प्रयोग एक गर्भनिरोधक के रूप में भी काम करता है। इससे एक्टिव सेक्स लाइफ के साथ आपके प्रेगनेंट ना होने की संभावना बढ़ जाती है।

लहसुन से गर्भपात

लहसुन हमारी रसोई में आसानी से पाया जाता है। इसके स्वास्थ्य सबंधी कई फायदे है। परंतु लहसुन का उपयोग अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाने के लिए भी किया जाता है। 10 वीक या उससे पहले की गर्भधारण की परिस्थिति में लहसुन का ज़्यादा उपयोग करना अनवांटेड प्रेग्नेंसी ख़तम करने की होम रेमेडी है। अगर रोज लहसुन का पर्याप्त सेवन किया जाए तो फायदा है। इसमें मौजूद ‘एलिसिन’ पुरुषों और महिलाओं दोनों के यौन अंगों में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है। परंतु अगर लहसुन से गर्भपात कराना है तो उसे 1500 मिलीग्राम से अधिक मात्रा में लेना चाहिए। जो थोड़े दिनों के लिए लगातार करना चाहिए।

ये भी पढ़े:  बांझपन के कारण, लक्षण, बांझपन उपचार और इलाज

garbhpat ke upay

अनानास का रस पीने से गर्भपात

अनानास का फल गर्भपात के घरेलू तरीकों में उपयोग में ले सकते है। इसे गर्भपात के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार में से एक कहा जाता है। अनानास शरीर पर कोई प्रतिकूल प्रभाव डाले बिना गर्भपात कर सकता है। अनानास में बड़ी मात्रा में विटामिन सी होता है। कुछ अन्य एंजाइम और रसायन होते हैं। जो गर्भपात का कारण बनते है। यह व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला प्रेग्नेंसी स्टॉप करने का तरीका है। अनानास को अच्छी तरह से छीलकर उसके टुकड़े काट लें। थोड़े पानी के साथ ग्राइंडर कर जूस बनाए। इस ज्यूस का नियमित रूप से सेवन करने से गर्भपात हो सकता है। इसमें उपस्थित ब्रोमेलैन के कारण गर्भाशय की दीवार नरम हो जाती है। और गर्भावस्था के शुरुआती दौर में गर्भपात हो जाता है।

पपीता के बीज से गर्भपात

पपीता बहुत सी महिलाओं में गर्भपात का कारण बनता है। गर्भपात का ये एक घरेलू तरीका है। हमारे देश में प्रारंभिक गर्भावस्था में गर्भपात के लिए प्राचीन काल से इस प्राकृतिक उपचार का उपयोग करते हैं। पपीता एक बहुत ही पौष्टिक फल है। इसमें कई विटामिन और खनिजों की अधिक मात्रा है। इसके स्वास्थ्य संबंधी अनगिनत लाभ है। इसका एक लाभ यह है कि इसे खाने से गर्भपात हो सकता है। महिलाएं आमतौर पर इसे घर पर गर्भपात के प्राकृतिक तरीके के रूप में अपनाती है। कुछ अध्ययनों में कहा गया है कि पपीते में मौजूद फाइटोकेमिकल्स प्रोजेस्टेरोन की कार्रवाई में बाधा डाल सकते हैं। जो गर्भपात का कारण है।

ये भी पढ़े:  कैसे ठीक करे गर्भावस्था में सर दर्द की समस्या

Garbhpat kaise kare

प्रारंभिक गर्भपात के लिए विटामिन सी फूड्स

विटामिन सी में गर्भनिरोधक होने के प्राकृतिक गुण होते हैं। यह गर्भपात के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय है। अच्छी मात्रा में खट्टे फल खाने से अनचाहे गर्भ से छुटकारा मिलता है। यह विशेष रूप से तब किया जाना चाहिए जब आपके पास मासिक अवधि हो।



गर्भपात के इन घरेलू तरीको को अपनाते समय यदि ज़्यादा अवधि के लिए हेवी ब्लीडिंग, पेट दर्द, बुखार, कमजोरी जैसे लक्षण दिखे तो अपने डॉक्टर का संपर्क करे।







टैग्स: , , ,
Previous Post
normal delivery ke upay in hindi | नॉर्मल डिलीवरी के उपाय
गर्भावस्था

नॉर्मल डिलीवरी के उपाय – How to get normal delivery without pain

Next Post
शरीर में खून की कमी
घरेलु उपचार

शरीर में खून की कमी को दूर करें इन खून बढ़ाने के उपाय से

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *