सामान्य प्रसव के लक्षण

क्या होते है नार्मल डिलीवरी के लक्षण – प्रसव पीड़ा (लेबर पेन) के 11 प्रमुख लक्षण

#Normal delivery ke lakshan

प्रसव पीड़ा का पूरा सफर

आप अपनी पूरी गर्भावस्था के दौरान विभिन्न प्रकार की भावनाओं को महसूस करते हैं। लेकिन गर्भावस्था का अंतिम महीना पूरी तरह से नयी भावनात्मक सोच है। आप जल्द ही बच्चे से मिलने जा रहे हैं। लेकिन आप प्रसव को लेकर उतने ही घबराए हुए हैं। और अगर यह आपकी पहली बार है तो चीजें पूरी तरह से नई हैं। कोई दो प्रसव समान नहीं हैं, और यह अनुमान लगाने का कोई तरीका नहीं है कि आपकी डिलीवरी कैसे होने वाली है। अतः आपको हमेशा यह सवाल होगा कि आपको कैसे पता चलेगा कि आपको प्रसव पीड़ा हो रही हैं। इस लेख में हम आपको प्रसव के सामान्य लक्षणों के बारे में बताएंगे जिसकी मदद से आप जन्म प्रक्रिया के चरणों को जान सकते हैं और यह जान सकते है की आम तौर पर प्रसव के दौरान क्या उम्मीद कर सकते हैं।




आमतौर पर प्रसव तीन स्टेज में होता है:

फर्स्ट स्टेज : गर्भाशय ग्रीवा (cervix) के 10 सेमी तक पूरी तरह से पतला होने तक जो की ‘ट्रू लेबर’ की शुरुआत का समय है।सेकंड स्टेज : सर्विक्स के 10 सेमी तक फैलने के बाद की अवधि से लेकर जब तक बच्चे का जन्म होता है।थर्ड स्टेज : नाल (प्लेसेंटा) की डिलीवरी




कभी-कभी कुछ ही घंटों में डिलीवरी खत्म हो जाती है।  अन्य मामलों में, प्रसव एक माँ के शारीरिक और भावनात्मक सहनशक्ति का परीक्षण करता है। लेकिन आपको बच्चे के जन्म को आसान बनाने और खुद को स्वस्थ रखने के लिए प्रसव से दोस्ती करनी पड़ेगी।

ये भी पढ़े:  गर्भवती होने के बेहतरीन उपाय - pregnant hone ke tips hindi me



प्रसव पूर्व के बदलाव

थर्ड ट्राइमेस्टर के अंत में, बच्चा माँ के पेट में नीचे आ जाता है।  इसे ‘लाइटनिंग’ के रूप में जाना जाता है। प्रसव कब शुरू होगा, इसका अनुमान लाइटनिंग से नहीं लगाया जा सकता है।  पहली बार माता बन रही औरतों में, प्रसव से लगभग 2 से 4 सप्ताह पहले ड्रापिंग होती है, लेकिन यह पहले भी हो सकती है।  उन महिलाओं में जिसके पहले से ही बच्चे हैं, प्रसव शुरू होने तक बच्चा नहीं आता है। पर आपको यह बदलाव अपने शरीर में प्रसव के पूर्व महसूस होगा।

आपके सर्विक्स में बदलाव आना भी गर्भावस्था के अंतिम माह में कभी भी शुरू हो सकता है, इससे पहले कि प्रसव शुरू हो, खासकर अगर यह आपका पहला बच्चा है। आपको अधिक म्यूकस के साथ भारी योनि स्राव हो सकता है।  प्रसव शुरू होने के दिन या घंटे पहले, आपका सर्विक्स अपनी स्थिति को बदलना शुरू कर सकता है और थोड़ा नरम और लंबाई में छोटा हो सकता है। आपको यह सब महसूस नहीं हो सकता है, या आप हल्के, नियमित संकुचन, पीठ दर्द या पेट दर्द से अवगत हो सकते हैं। आपके शरीर में होने वाले परिवर्तनों के परिणामस्वरूप, आपके सर्विक्स में म्यूकस प्लग बाहर आ सकता है।  इसे ‘शो’ कहा जाता है और यह संकेत है कि आपका शरीर प्रसव के लिए तैयार हो रहा है।

मूड स्विंग और अपने घर को साफ करने या ऑर्डर लाने का आग्रह (nesting) भी आप महसूस करेंगी।फर्स्ट स्टेज आम तौर पर बारह से उन्नीस घंटे, सेकंड स्टेज बीस मिनट से दो घंटे और थर्ड स्टेज पांच से तीस मिनट तक रहता है।

लेबर का फर्स्ट स्टेज

प्रसव यानी की लेबर का फर्स्ट स्टेज कॉन्ट्रैक्शन से शुरू होता है जो लंबाई और तीव्रता में बढ़ते है, और जब सर्विक्स (गर्भाशय ग्रीवा) पूरी तरह से डायलेट होता है (10 cm) तब समाप्त होता है ।

ये भी पढ़े:  एक साल तक के बच्चों के आहार



इसके तीन चरण हैं: अर्ली लेबर फेस, एक्टिव लेबर फेस और ट्रांजिशनल फेस।

अर्ली लेबर फेस

अर्ली लेबर फेस के दौरान आप अपनी जांघों, कूल्हों और पेट में असुविधा महसूस होती है। आपको पेट या पीठ में दर्द हो सकता है और कुछ पैल्विक दबाव महसूस हो सकता है, जैसे कि आपके पीरियड्स शुरू हो रही है। पेट गड़बड़ हो सकता है। यह आपका भावुक, उत्साहित या मूडी महसूस करने का दौर है। आप बेचैन, चिंतित या अधीर महसूस कर सकते हैं। आपकी नींद में खलल हो सकती है। आपका सर्विक्स 3 सेमी तक फैल जाएगा और पतला होगा। कोंन्ट्रेक्शन लगभग 30-45 सेकंड तक चलेगा।

आप क्या करेंगी?

जहां तक ​​हो सके अपनी सामान्य गतिविधियों पर ध्यान दें।  टहलने जाएं, सोने या आराम करने की कोशिश करें, हलका भोजन करें। तरल पदार्थों का सेवन करें। कोंन्ट्रेक्शन के दौरान जब तक लें सकें तब तक एक सामान्य तरीके से साँस लें और रिलेक्स रहें। अगर आपकी मदद के लिए कोई आस-पास है तो शॉवर लें।

आपका मेंब्रेन एक एमनियोटिक फ्लूइड के प्रवाह के साथ फट सकता हैं। यह प्रसव शुरू होने से बहुत पहले हो सकता है, फिर भी आपको अपनी डॉक्टर को फोन करना चाहिए ताकि उन्हें पता चल सके। और एडमिट होने की तैयारी करनी चाहीए।

एक्टिव लेबर फेस

आपका सर्विक्स 4 सेमी से 7 सेमी तक फैल जाएगा।  इस चरण के दौरान कोंन्ट्रेक्शन लगभग 45 से 60 सेकंड के बीच में 3-5 मिनट रेस्ट के साथ चलेगा।

आप क्या करेंगी?

अब आपके लिए अस्पताल जाने का समय है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आपके पास मदद और समर्थन हो। माँ को मदद करने वाले कि अविभाजित ध्यान मीलना चाहिए। आपका अनुभव आरामदायक बनाने में मदद लें। (तकिए का सहारा , पानी, जेंटल मसाज आदि)। बार-बार पोजीशन बदलें। ब्रीधींग और रिलेक्सेशन एक्सरसाइज चालु रखें।

ट्रांजिशनल फेस

यह प्रसव का एक छोटा चरण है लेकिन कठिन है। आपका सर्विक्स 8 सेमी से 10 सेमी तक फैल जाएगा। इस फेस के दौरान कोंन्ट्रेक्शन  लगभग 60-90 सेकंड के बीच 30 सेकंड -2 मिनट के आराम के साथ चलेगा। कोंन्ट्रेक्शन लंबे, मजबूत, तीव्र, और ओवरलैप हो सकते हैं। आपको ठंड लगना, कंपकंपी, मतली, उल्टी या गैस का अनुभव कर सकते हैं। जब आपको पुश करने का आग्रह हो, तो अपने डॉक्टर को बताएं।

ये भी पढ़े:  प्रेगनेंसी में कब्ज दूर करने लिए उपचार | Pregnancy Me Kabj Ke Upay in hindi

आप क्या करेंगी?

ब्रीधींग और रिलेक्सेशन एक्सरसाइज चालु रखें। “एक समय में एक कोंन्ट्रेक्शन” पर फ़ोकस करने की कोशिश करें। याद रखें कि आप प्रसव पीड़ा के पूरे सफर में पहले से कितनी दूर आ चुके हैं।

सेकंड स्टेज

सेकंड स्टेज तब होता है जब आप वास्तव में अपने बच्चे को जन्म देते हैं। आपका सर्विक्स 10 सेमी तक पूरी तरह से पतला हो जाता है और ‘ट्रू लेबर’ का समय है। आपको धक्का देने का प्राकृतिक आग्रह होगा। कोंन्ट्रेक्शन बच्चे को बर्थ कैनाल के नीचे धकेलते हैं, और आपको मल त्यागने के आग्रह के समान तीव्र दबाव महसूस हो सकता है। आपके द्वारा मामूली मल त्याग या पेशाब की दुर्घटना होने की संभावना है। कोंन्ट्रेक्शन बीच में 3-5 मिनट के अंतराल पर लगभग 45-90 सेकंड तक चलेगा।

आप क्या करेंगी?

जोर लगने पर पुश करें। पुश करने के लिए अपनी सारी ऊर्जा का उपयोग करें। अपने पेल्वीक फ्लोर और गुदा क्षेत्र को रिलैक्स करें। अपनी ताकत वापस पाने में मदद करने के लिए कोंन्ट्रेक्शन के बीच आराम करें। खुद को प्रोत्साहित करें।

थर्ड स्टेज

थर्ड स्टेज नाल (प्लेसेंटा) की डिलीवरी है और सबसे छोटा चरण है। प्रसव के थर्ड स्टेज में गर्भाशय सिकुड़ता है, और नाल गर्भाशय की दीवार से अलग हो जाती है। इस अवस्था में पांच से 30 मिनट या उससे अधिक समय लग सकता है।

आपके बच्चे का जन्म एक विशेष अनुभव है। और प्रसव ही एकमात्र प्राकृतिक घटना है जो आपको अपने बच्चे से मिलाएगा।

0 Shares

Leave a comment